Home उत्तराखंड श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के वरिष्ठ कॉर्डियोलॉजिस्ट ने फोर्टीज अस्पताल में लगाया दुनिया का सबसे छोटा पेसमेकर – RAIBAR PAHAD KA

श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के वरिष्ठ कॉर्डियोलॉजिस्ट ने फोर्टीज अस्पताल में लगाया दुनिया का सबसे छोटा पेसमेकर – RAIBAR PAHAD KA

0
श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के वरिष्ठ कॉर्डियोलॉजिस्ट ने फोर्टीज अस्पताल में लगाया दुनिया का सबसे छोटा पेसमेकर – RAIBAR PAHAD KA

[ad_1]

शेयर करें

देहरादून। फोर्टीज अस्पताल चंडीगढ़ में डॉ (कर्नल) सलिल गर्ग के प्रतिनिधित्व में दुनिया का सबसे छोटा पेसमेकर मरीज़ को लगाया गया। डॉ श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के कॉर्डियोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष हैं। इस प्रोसीजर के लिए उन्हें विशेष रूप से श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल से फोर्टीज अस्पताल चण्डीगढ़ आमंत्रित किया गया था। फोर्टीज अस्पताल के डॉक्टरों व स्टाफ की मदद से मरीज़ को यह पेसमेकर लगाया गया। डॉ सलिल गर्ग इससे पूर्व उत्तराखण्ड का पहला माइक्रो पेसमेकर श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में लगा चुके हैं। डॉ सलिल गर्ग कॉर्डियोलॉजी के क्षेत्र में जाना पहचाना नाम हैं। फोर्टीज अस्पताल ने इस प्रोसीजर के लिए डॉ सलिल गर्ग को विशेष रूप से आमंत्रित किया था।
श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के वरिष्ठ कॉर्डियोलॉजिस्ट एवम् विभागाध्यक्ष डॉ (कर्नल) सलिल गर्ग ने जानकारी दी कि इस पेसमेकर का वजन मात्र 2 ग्राम है व साइज़ में यह पेसमेकर एक बड़े विटामिन कैप्सूल के आकार के बराबर है। मेडिकल साइंस में इसे माइक्रा ट्रांसकैथेटर पेसिंग सिस्टम कहते हैं। दुनिया के ब्रेडिकॉर्डिया के रोगियों के लिए यह मेसमेकर विश्व का सबसे छोटा पेसमेकर है। अभी तक यह पेसमेकर लगाने की सुुविधा देश के मैट्रों शहरों के नामचीन अस्पतालों में ही उपलब्ध थी। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में वरिष्ठ कॉर्डियोलॉजिस्ट की देखरेख में यह सेवा मरीजों को सुगमता से उपलब्ध हो रही है।
श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के वरिष्ठ कॉर्डियोलॉजिस्ट एवम् विभागाध्यक्ष डॉ (कर्नल) सलिल गर्ग ने इस अवसर पर कहा कि श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के कॉर्डियोलॉजी विभाग में वर्तमान में दो अत्याधुनिक कैथ लैब संचालित हैं। कॉर्डियोलॉजी विभाग में डीएम प्रोग्राम भी वर्तमान में संचालित हैं, प्रदेश में एम्स व श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में ही कॉर्डियोलॉजी विभाग डीएम प्रोग्राम की दो सीटें प्रतिवर्ष मिली हैं। वर्तमान में इलैक्ट्रोफिजियोलॉजी प्रणांली भी कॉर्डियोलॉजी विभाग में संचालित है। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल राज्य का एकमात्र अस्पताल है, जिसके कार्डियोलॉजी विभाग में इलैक्ट्रोफिजियोलॉजी मशीन के द्वारा अनियमित धड़कनों वाले मरीजों का इलाज भी नियमित रूप से किए जा रहे हैं। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल को उत्तराखण्ड व पश्चिमी प्रदेश के मरीजों की लाइफ लाइन के रूप में जाना जाता है। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल का कार्डियोलॉजी विभाग हार्ट की उत्कृत्ट स्वास्थ्य सेवाएं देने में अव्वल स्थान पर है।

About Post Author



Post Views:
16

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here