Home उत्तराखंड महाराज की उ0प्र0 के मुख्यमंत्री योगी से जनपद के तीन विकासखण्डों में सिंचाई के लिए 665 क्यूसेक पानी की मांग – RAIBAR PAHAD KA

महाराज की उ0प्र0 के मुख्यमंत्री योगी से जनपद के तीन विकासखण्डों में सिंचाई के लिए 665 क्यूसेक पानी की मांग – RAIBAR PAHAD KA

0
महाराज की उ0प्र0 के मुख्यमंत्री योगी से जनपद के तीन विकासखण्डों में सिंचाई के लिए 665 क्यूसेक पानी की मांग – RAIBAR PAHAD KA

[ad_1]

शेयर करें

जिला पंचायत व क्षेत्र पंचायत प्रमुखों के प्रत्यक्ष चुनाव पर भी योगी ने जताई सहमति

हरिद्वार। प्रदेश के लोक निर्माण, पर्यटन, सिंचाई, लघु सिंचाई, पंचायती राज, ग्रामीण निर्माण, संस्कृति, जलागम प्रबन्धन एवं भारत नेपाल उत्तराखण्ड नदी परियोजना मंत्री सतपाल महाराज ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शिष्टाचार भेंट कर संयुक्त निरिक्षण के पश्चात टिहरी बांध से उत्तर प्रदेश को उपलब्ध हो रहे अतिरिक्त पानी में से जनपद हरिद्वार के भगवानपुर आदि क्षेत्रों में सिंचाई हेतु 665 क्यूसेक पानी देने का अनुरोध किया।

प्रदेश के लोक निर्माण, पर्यटन, सिंचाई, लघु सिंचाई, पंचायती राज, ग्रामीण निर्माण, संस्कृति, जलागम प्रबन्धन एवं भारत नेपाल उत्तराखण्ड नदी परियोजना मंत्री सतपाल महाराज ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शिष्टाचार भेंट कर टिहरी बांध से उत्तर प्रदेश को उपलब्ध हो रहे अतिरिक्त 4879 क्यूसेक पानी में से जनपद हरिद्वार के भगवानपुर सहित तीन विकासखण्डों के 74 गांवों की 18280 हेक्टेयर सिंचित भूमि में सिंचाई सुविधा प्रदान करने हेतु 35 किलोमीटर लंबी इकबालपुर नहर प्रणाली एवं कनखल और जगजीतपुर नहर की क्षमता विस्तार किए जाने के लिए संयुक्त निरिक्षण के पश्चात 665 क्यूसेक पानी देने का अनुरोध किया।

श्री महाराज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कहा कि टिहरी डैम से उत्तर प्रदेश को 4000 क्यूसेक पानी की आवश्यकता थी लेकिन डैम की ऊंचाई बढ़ने के बाद उत्तर प्रदेश को 4879 क्यूसेक पानी मिल रहा है जोकि 879 क्यूसेक अतिरिक्त है। हमें उस अतिरिक्त पानी में से ही 665 क्यूसेक पानी चाहिए। मुख्यमंत्री श्री योगी ने प्रदेश के सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज से पूछा कि इस संबंध में संयुक्त निरिक्षण का क्या हुआ। इस पर श्री महाराज ने बताया कि मार्च महा में संयुक्त निरिक्षण हो चुका है और अब तक इसकी रिपोर्ट आ जानी चाहिए थी। इस बात पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यह मामला पहली बार उनके संज्ञान में आया है उन्हे इसकी जानकारी नहीं थी। श्री महाराज ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अनुरोध किया कि चूंकि संयुक्त निरिक्षण हो चुका है इसलिए अब शीघ्र इसके शासनादेश निकलने चाहिए। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने उन्हें भरोसा दिलाते हुए कहा कि पूरे मामले को दिखाकर शीघ्र ही वह इस पर कार्यवाही करेंगे और उत्तराखंड राज्य की सीमा में आ रही उत्तर प्रदेश की सड़कों को भी फोरलेन किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात के दौरान पंचायत मंत्री सतपाल महाराज ने उनसे जिला पंचायत और क्षेत्र पंचायत प्रमुखों के सीधे चुनाव करवाने के विषय में भी चर्चा की जिस पर उन्होंने अपनी सहमति व्यक्त की।

इस मौके पर सिंचाई विभाग के प्रमुख अभियंता जयपाल सिंह, प्रेम सिंह पवार, विकास श्रीवास्तव और पीके दीक्षित भी मौजूद थे।

About Post Author



Post Views:
14

[ad_2]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here